New Dilhi

अग्निवीर की तरह बैंकों में भी कॉन्ट्रैक्ट बेस पर रखे जाएंगे कर्मचारी

नई दिल्ली 24webnews:- अभी सेना में 4 साल के लिए अग्नीपथ योजना के तहत बहाली का मुद्दा चल ही रहा है कि इसी बीच एक खबर और निकल कर आ रही है कि अब बैंकों में भी कॉन्ट्रैक्ट पर कर्मचारी रखे जाएंगे। ऐसा बैंकों के बढ़ते ऑपरेशन कॉस्ट को देखते हुए किया जा रहा है। सरकारी बैंक अपना खर्चा कम करने के लिए कम वेतन और कॉन्ट्रैक्ट पर कर्मियों की भर्ती करेगी। भारतीय स्टेट बैंक अपना खर्च कम करने के लिए मानव संसाधन संबंधित मुद्दों के लिए एक अलग कंपनी शुरू करने जा रहा है। स्टेट बैंक की ऑपरेशन और सपोर्ट सब्सिडियरी को हाल ही में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) से सैद्धांतिक स्वीकृति मिल गई है। शुरुआत में यह कंपनी ग्रामीण और अर्द्ध-शहरी क्षेत्रों में बैंक शाखाओं में कर्मचारियों का प्रबंधन करेगी। यानी छोटे शहरों और ग्रामीण इलाकों के बैंक में अब कॉन्ट्रैक्ट पर कर्मचारी बहाल होंगे। बैंकिंग क्षेत्र के जानकारों की माने तो यह कदम उठाकर बैंक अपना कॉस्ट-टू-इनकम रेश्यो कम करना चाहता है, जो अभी इंडस्ट्री स्टैंडर्ड के हिसाब से बहुत ऊंचा है। ऐसा इसलिए है क्योंकि पूरे देश में एसबीआई ने बैंक शाखाओं का एक बहुत बड़ा नेटवर्क स्थापित कर रखा है। चालू वित्तीय वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही में एसबीआई के कुल ऑपरेशन खर्च में वेतन का हिस्सा करीब 45.7 फीसदी था और सेवानिवृत्ति लाभ व अन्य प्रोविजन की हिस्सेदारी 12.4 फीसदी है।  मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ऑल इण्डिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन के संयुक्त सचिव डीएन त्रिवेदी ने बताया कि स्टेट बैंक ऑपरेशन सपोर्ट सर्विसेस जिन कर्मचारियों की नियुक्ति करेगी वो सभी नियुक्तियां अनुबंध के आधार पर होंगी। अनुबंध के आधार पर नियुक्त होने वाले कर्मचारियों को एसबीआई के स्थायी कर्मियों को मिलने वाले सभी लाभ नहीं मिल सकेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button