अपराधउत्तर प्रदेशमुरादाबाद

अब अपराधियों की खैर नहीं : ईगल मोबाइल पुलिस रखेगी बदमाशों की हर हरकत पर नजर, कुंडली भी बनाई

Now criminals are not well: Eagle Mobile police will keep an eye on every action of miscreants, also made horoscope

11 दिसंबर 21, मुरादाबाद। जिले में अब अपराधियों की खैर नहीं। जी हां, एसएसपी ने प्रत्येक अपराधी की निगरानी और उसका लेखा-जोखा तैयार करने के लिए ईगल मोबाइल टीम को लगाया है। इसके लिए प्रत्येक थाना क्षेत्र पर एक ईगल मोबाइल टीम की विशेष तैनाती की गई है। आने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर पुलिस अपराधियों की कड़ी निगरानी कर रही है।

जिले में सात हजार अपराधी

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, मुरादाबाद के निर्देशन में जनपद मुरादाबाद में अपराध एवं अपराधियों पर प्रभावी नियंत्रण हेतु अपराधियों के क्रिया कलापों की प्रभावी निगरानी की आवश्यकता को देखते हुए प्रत्येक थाना के लिये एक स्पेशल निगरानी टीम ईगल मोबाइल का गठन किया गया। इस प्रकार जनपद में कुल19 ईगल मोबाइल बनायी गयी हैं। प्रत्येक मोबाइल पर दो सिपाही नियुक्त किए गए हैं। ईगल मोबाइलों पर नियुक्त कर्मियों को थाना क्षेत्र के अपराधियों के क्रिया कलापों की सतत निगरानी करने और उनके डोजियर तैयार करने का मुख्य कार्य आवंटित किया गया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बब्लू कुमार ने रिजर्व पुलिस स्थित सभागार में सभी ईगल मोबाईल टीमों पर नियुक्त कर्मियों द्वारा अब तक किये गये कार्यों की समीक्षा की।

त्रिनेत्र एप पर दिखेगा बदमाशों का रिकार्ड 

पाया गया कि जिले के सात हजारअपराधियों की निगरानी एवं उनके डोजियर तैयार करने का कार्य शुरू हो गया है। ईगल मोबाइल कर्मियों द्वारा करीब चार हजार अपराधियों का सत्यापन एवं डोजियर पूर्ण किया जा चुका है। अपराधियों की कारगुजारी को त्रिनेत्र एप में फीड किया जा रहा है। एसएसपी ने सभीअपराधियों की संपूर्ण सूचना संकलित कर त्रिनेत्र ऐप में फीड करने, जेल से जमानत पर रिहा होकर आने वाले अपराधियों की अगले दिन ही उसके घर जाकर निगरानी करने, अपराधियों का प्रत्येक दिन डोजियर बनाकर अपलोड करने एवं संपूर्ण डाटा बेस तैयार करने, अपराधियों के फोटोग्राफ प्राप्त कर एलबम रजिस्टर बनाने के निर्देश भी दिए गए हैं। प्रत्येक अपराधी का फोटो, वर्तमान एवं स्थाई पता व मोबाइल नंबर ेभी पुलिस को डाटा बेस में अंकित करने हेतु निर्देश दिए गए हैं। एसएसपी ने कमिंर्यों को क्षेत्र भ्रमण के दौरान किसी भी प्रकार की आपराधिक सूचना प्राप्त होने पर थाने पर वापसी कराने के दौरान नियमानुसार बीट सूचना अंकित कराने को कहा गया है। थाने पर अंकित कराई बीट सूचना में आवश्यकतानुसार प्रभावी निरोधात्मक कार्यवाही कराने हेतु संबन्धित थाना प्रभारी से अनुरोध करने हेतु अवगत कराया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button