कन्नौजकानपुर देहातकानपुर नगरकासगंजकुशीनगरकौशाम्बीग़ाज़ियाबादग़ाज़ीपुरगोंडागोरखपुरगौतम बुद्ध नगरचंदौलीचित्रकूटजालौनजौनपुरझांसीदेवरियापीलीभीतप्रतापगढ़प्रयागराजफ़तेहपुरफ़र्रूख़ाबादफ़िरोज़ाबादबदायूँ

कन्नौज:- स्वतंत्रता दिवस के अमृत महोत्सव पर समाज कल्याण मंत्री और अनुसूचित जाति, जनजाति आयोग के अध्यक्ष असीम अरूण ने कलेक्ट्रेट परिसर में ध्वजारोहण किया

कन्नौज 24webnews:- आज स्वतंन्त्रता दिवस के पावन अवसर पर समाज कल्याण मंत्री और अनुसूचित जाति, जनजाति आयोग के अध्यक्ष असीम अरूण ने कलेक्ट्रेट परिसर में ध्वजारोहण किया। इसके उपरान्त राज्य मंत्री एंव सांसद सुब्रत पाठक तथा जिलाधिकारी शुभ्रान्त कुमार शुक्ल ने कलेक्ट्रेर परिसर में महात्मा गांधी, चन्द्रशेखर आजाद, सुभाष चन्द्र बोस आदि वीर शहीदों के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्वांजलि अर्पित की। कलेक्ट्रेट परिसर में सयुंक्त रूप से वृक्षारोपण करते हुये कहा कि वृक्षों की सुरक्षा हेतु समय-समय पर पानी आदि की समुचित व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाये। इस मौके पर भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसकी दर्शकों द्वारा भूरि-भूरि प्रशंसा की गई। छात्राओं द्वारा स्वागत गीत की प्रस्तुति प्रशंसनीय रही। कार्यक्रम में राज्य मंत्री एंव सांसद सुब्रत पाठक, जिलाधिकारी शुभ्रान्त कुमार शुक्ल ने प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के अन्तर्गत विकास खण्ड कन्नौज में योजना से लाभ प्राप्त श्रीमती अल्का, ग्यासुददीन, मीना, सोनी, सावित्री कुल 5 लाभार्थियों को पीएम आवास का प्रतीक भवन व अंगवस्त्र भेंट किया। मुख्यमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) विपिन, लल्लू, आरती, दिलशाद, बलवीर को स्वीकृति पत्र वितरित किया। प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) रमादेवी, शिवरानी, ताराश्री, रामबहादुर,राकेश, सबीना, सहाना,सीमा बानो को स्वीकृति पत्र वितरित कर सम्मानित किया। राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के अन्तर्गत 100 दिन का रोजगार प्राप्त कर चुके श्रमिक गोविन्द, मो0 गफर, जावेद, राम लखन, अर्जुन को सम्मानित किया। कार्यक्रम के दौरान शिवनारायण, महेन्द्र कुमार, रामेश्वर दयाल, आदि कुल 20 पीएम किसानों को प्रमाण पत्र वितरित कर सम्मानित किया गया । राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत स्वंय सहायता समूह के 310 समूहों को 6 लाख रू0 प्रति समूह को कुल 18.60 लाख रू0 की धनराशि स्वीकृति प्रमाण पत्र वितरण किया गया। इस अवसर पर राज्य मंत्री श्री अरूण ने कहा कि अन्त्योदय की कल्पना को शीर्ष पायदान पर लाने का कार्य किया जा रहा है। रेलवे, मैट्रो, आवास, शौचालय, स्वावलम्बन, स्वतः रोजगार योजना के अन्तर्गत आत्म निर्भर भारत बनाने का सपना साकार किया जा रहा है। उन्होनें कहा कि स्वतंत्रता के 100 वर्ष पूर्ण होने तक हमारा देश विश्व में प्रथम स्थान पर होगा। उन्होनें कहा कि हमारा देश श्रेष्ठ भारत की ओर निरन्तर प्रगति पर है। अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को आवास, शौचालय, शिक्षा, स्वास्थ्य आदि सुविधायें मुहैया कराने के लिये हमारी सरकार दृढ़ संकल्पित है। उन्होनें कहा कि हम सभी का कर्तव्य है कि अमृत सरोवर योजना में श्रमदान करें, तथा उसकी सुरक्षा की जिम्मेदारी का निर्वहन भी करे। देश में हर तरफ स्वतंत्रता दिवस की धूम है। सरकार के हर घर तिरंगा अभियान ने सबसे बड़े राष्ट्रीय पर्व की रौनक को और बढ़ा दिया है। हमारा देश भारत 15 अगस्त 1947 को ब्रिटिश राज से मुक्त हुआ था। यानी आजादी को 75 बरस पूरे हो गए हैं। आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। भारत को आजाद कराने के लिए महात्मा गांधी, भगत सिंह, मंगल पांडे, लाला लाजपत राय, चंद्रशेखर आजाद, रामप्रसाद बिस्मिल, सुभाष चंद्र बोस समेत सैंकड़ों स्वतंत्रता सेनानियों ने दशकों तक आजादी की लड़ाई लड़ी। आजादी की सालगिरह इन महापुरुषों को नमन करने का दिन है। सांसद सुब्रत पाठक ने कहा कि 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस के लिए हमारे देश के वीर शहीदों ने अपना बलिदान देकर हम सबको आजादी दिलायी है। इस पर हम सभी का कर्तव्य है कि हम उन महापुरूषों के द्वारा किये गये संघर्षों को जाने कि उन्होनें किस प्रकार से ब्रिटिश सरकार की यातनाओं को बर्दाश्त कर अपनी जान देश के प्रति न्यौछावर कर हम सभी को आजादी दिलायी है। ऐसे महापुरूषों के जीवन से हम सब को सीख लेनी चाहिए। उन्होनें कहा कि हमारे देश के नागरिकों ने स्वतंत्रता सप्ताह को बहुत ही व्यापक ढंग से मना कर एक बार यह फिर दिखा दिया है कि हम सभी भारत वासी देश के प्रति सच्ची निष्ठा के साथ समर्पित है।जिलाधिकारी शुभ्रान्त कुमार शुक्ल ने वीर शहीदों को नमन करते हुए कहा कि वीर अमर शहीदों ने अपना बलिदान देकर हमें आजादी दिलाई, जो हम आज स्वतंत्रता पूर्वक जश्न मना रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमें सोचने की आवश्यकता है कि आजादी के इतने वर्ष बाद हमने क्या खोया और क्या पाया है क्योंकि कोई भी लड़ाई कोई भी संघर्ष लेकर जब आप कार्य करते हैं तो उसके पीछे एक उद्देश्य होता है जब हमारा देश गुलाम था उस गुलामी से मुक्ति के लिए जो लोग संघर्ष कर रहे थे उन्होंने इतना बड़ा बलिदान दिया इतना त्याग किया आज उन महापुरुषों से हमें सीख लेनी चाहिए यदि हम अच्छे कर्तव्य तथा नियमों पर खरे उतरेंगे तो हमारे देश की जनता खुशहाल होगी तथा देश प्रगति करेगा उन्होंने कहा कि हम अपनी दैनिक कार्यों में इतना उलझ गए हैं कि हम अपने इतिहास को नहीं पढ़ पा रहे हैं। उन्होनें यह भी कहा कि भूख, भय, भेदभाव, भ्रष्ट्राचार से मुक्त आजादी है। यह भावना को लेकर सबका साथ, सबका विकास नारे के साथ कार्य किया जायेगा। कार्यक्रम में मुख्य विकास अधिकारी, अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0),अतिरिक्त मजिस्ट्रेट ने महापुरूषों की जीवनी पर आधरित चर्चा की तथा नाजिर कलेक्ट्रेट आदि कर्मचारियों ने भी अपने-अपने विचार व्यक्त किये।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button