उत्तर प्रदेश

किसान आंदोलन को लेकर प्रशासन हुआ अलर्ट

फर्रुखाबाद…

नवाबगंज भारतीय किसान यूनियन के मुखिया राकेश टिकैत के आवाहन पर 18 फरवरी को पूरे भारत में 4 घंटे के लिए रेल रोको आंदोलन होना था 12:00 बजे से 4:00 बजे तक का समय रखा था उसी क्रम में फर्रुखाबाद नवाबगंज से भारतीय किसान यूनियन जिला अध्यक्ष अरविंद शाक्य की अगुवाई में 18 फरवरी को फर्रुखाबाद जाने के लिए भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ता समय से फर्रुखाबाद जाने के लिए तैयार हुए इधर प्रशासन सक्रिय हो गया कई थानों की पुलिस व co मोहम्मदाबाद,व मजिस्ट्रेट के तत्वावधान में किसानों को नवाबगंज चौराहे से रोडवेज बस में बैठा कर फर्रुखाबाद की तरफ चलें लेकिन फर्रुखाबाद ना जाकर किसानों को खंड विकास कार्यालय नवाबगंज के मीटिंग हॉल में किसानों को एकत्रित कर लिया गया किसान अपनी मीटिंग मीटिंग हॉल में ही करने लगे जो किसान यूनियन के जिला अध्यक्ष अरविंद शाक्य से बात की तो उन्होंने बताया कि 2:00 बजे

आदरणीय प्रधानमंत्री भारत सरकार व मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार के नाम ज्ञापन दिया जाएगा जो द्वारा जिला अधिकारी महोदय

मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार के नाम ज्ञापन जिसमें किसानों ने अपनी मांगों को रखा वह इस प्रकार है आलू किसान मंदी की मार झेल रहा उसकी लागत भी नहीं निकल रही है अतः सरकार आलू का निर्यात करें जिससे किसानों को आलू की फसल का उचित मूल्य मिल सके
किसान अपने आलू को कोल्ड स्टोरेज में रखताहै तो उसे 50 प्रतिशत सब्सिडी दी जाए
गंगा एक्सप्रेसवे को फर्रुखाबाद से होकर निकाला जाए क्योंकि यहां अनेक धार्मिक स्थल है छावनी भी है
फर्रुखाबाद के कुछ ग्रामों में चकबंदी का कार्य चल रहा है ब्लॉक कमालगंज ग्राम सभा बहोरा ,ब्लॉक बढ़ पुर ग्राम सभा चौशपुर ,ब्लॉक मोहम्दाबाद ग्राम सभा बनकिया एवं ग्राम सभा वराकेशब की चकबंदी को किसानों का विरोध देखते हुए वोटिंग के आधार पर निरस्त की जाए
फर्रुखाबाद नवाबगंज अचरा होते हुए अलीगंज मार्ग का चौड़ीकरण किया जाए
गन्ने का भाव 3 वर्ष से नहीं बढ़ाया गया गन्ने का भाव ₹450 कुंतल किया जाए
सिंचाई बिजली मुफ्त दी जाए

प्रधानमंत्री भारत सरकार के नाम ज्ञापन में
निम्न मांगे रखी गई है
सरकार द्वारा लगाई गई तीनों किसान विरोधी कानूनों को वापस लिया जाए
न्यूनतम समर्थन मूल्य का कानून के दायरे में लाकर समर्थन मूल्य से नीचे खरीदने वालों पर कार्रवाई करते हुए जेल का प्रावधान होना चाहिए
किसान सम्मान निधि सभी किसानों को दिया जाए सभी किसानों की सम्मान निधि राशि 6000 से बढ़ाकर 24000 की जाए
किसानों के सभी सभी तरह के पिछले वर्षों के कर्ज माफ किये जाएं
लॉकडाउन के अंतर्गत फल सब्जी दूध, मुर्गी फार्म ,मछली पालन, मधुमक्खी पालन फूल का उत्पादन किसानों के नुकसान की भरपाई हेतु भारत सरकार दो लाख करोड़ का पैकेज दे
संपूर्ण देश में बिजली का बिल एक समान किया जाए एवं पिछले एवंकिसानों का विद्युत बिल माफ किया जाए ।
प्रभा कांत मिश्रा मंडल उपाध्यक्ष कानपुर मंडल , अफरोज मंसूरी सुग्रीव पाल ,मुकेश शर्मा ,हरिओम अग्निहोत्री ,बीनू टेलर नगर अध्यक्ष ,राजू ठाकुर ,अधिकारीलाल संजय सिंह संगठन मंत्री, शीशराम शर्मा जिला सचिव किसान कार्यकता मौजूद रहे।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *