उत्तर प्रदेशमुरादाबादस्वास्थ्य

टीएमयू ने दी दिव्यांग फ्रेंडली वेबसाइट, नेत्रहीनों के लिए बनेगी वरदान

TMU gave a Divyang friendly website, a boon for the blind

04 दिसंबर 21, मुरादाबाद (प्रो.श्याम सुंदर भाटिया) तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी ने विश्व विकलांग दिवस पर दिव्यांगों को नायाब तोहफा दिया है। चाहें तो फैकल्टी हो या नॉन फैकल्टी, सभी इससे लाभान्वित होंगे। यूनिवर्सिटी के आन्तरिक दिव्यांगों के अलावा देश और दुनिया के दिव्यांगों के लिए बड़ी सहूलियत ब्राइटनेस विजन प्राब्लम से मुक्ति की होगी। अब दिव्यांग जो भी मेसेज रीड या ड्राफ्ट करना चाहेंगे बिना दुश्वारी के हो जाएगा। निदेशक छात्र कल्याण प्रो. एमपी सिंह ने इस दिव्यांग फ्रेंडली वेबसाइट को वरदान बताया। निदेशक प्रो. सिंह कहते हैं, यूनिवर्सिटी दिव्यांगों के सशक्तिकरण को संकल्पित है। यूनिवर्सिटी के हर कॉलेज में दिव्यांगों के लिए टॉयलेट की सुविधा तो है ही, ई-व्हीलचेयर आदि की भी प्रबंधन हैै। यूूनिवर्सिटी में दिव्यांगों के लिए दो सहायता केन्द्र भी खुले हुए हैं।

प्रो. एमपी सिंह

नेत्रहीनों के लिए बेहद उपयोगी

टीएमयू के वेब डवलपमेंट टीम का मानना है, दिव्यांग फ्रेंडली यह वेबसाइट सचमुच दिव्यांगों के लिए दोस्त जैसी ही है। यदि किसी दिव्यांग को कलर ब्लाइंडनेस की बीमारी हो या फिर एपीलेप्सी सीजर डिस्आॅर्डर या माइनर विजुअल इंपायरमेंट या ब्लाइंड पीपुल की श्रेणी हो या मोटर इंपेयरमेंट्स बीमारी से पीड़ित हो, सभी के लिए यह वेबसाइट संचालन सहज है। सौ फीसदी ब्लाइंड पर्सन्स के लिए यह आवश्यक है, उनके लैपटॉप व कम्प्यूटर में जेएडब्ल्यूएस या एनवीडीए दोनों में से कोई एक सॉफ्टवेयर स्टॉल होना चाहिए। मोटर इंपेयरमेंट्स के पीड़ित माउस की अपेक्षा की-बोर्ड के बूते अपनी वर्किंग कर सकते हैं। उल्लेखनीय है, 140 प्लस एकड़ में आच्छादित यूनिवर्सिटी के कैंपस में रन कर रहे 17 कॉलेजों में 140 प्रोग्राम्स हैं। इनमें देश-विदेश के 14,000 से अधिक स्टुडेंट्स अध्ययनरत हैं। इन छात्र-छात्राओं को एक हजार से अधिक उच्च शिक्षित और अनुभवी फैकल्टी पढ़ाती हैं। इनमें से 800 फैकल्टी स्थायी जबकि 200 गेस्ट फैकल्टी हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button