उत्तर प्रदेशमथुराराजनीति

डिप्टी सीएम के टवीट ने बढ़ाई मथुरा में हलचल, छह को जलाभिषेक के एलान से तनाव, पुलिस मुस्तैद

Deputy CM's tweet increased the stir in Mathura, tension with the announcement of Jalabhishek to six


04 दिसंबर 21, लखनऊ : अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि विवाद खत्म होने के बाद अब हिंदुत्व को धार देने के लिए मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मस्थान को मुद्दा बनाने की कवायद तेज हो गई है। अदालत में याचिका के बाद अखिल भारत हिंदू महासभा और नारायणी सेना के आगामी 6 दिसंबर को श्रीकृष्म जन्मभूमि में जलाभिषेक करने का एलान किया गया है। पुलिस ने मुस्तैदी दिखाते हुए इस एलान के बाद सुरक्षा व्यवस्था का पूरा खाका तैयार कर लिया है। मथुरा की सुरक्षा व्यस्था पुख्ता करने के लिए आसपास के जिलों से भी पुलिस बुलाई जा रही है। हालांकि आंदोलन को लेकर क्षेत्र में तनाव देखा जा रहा है।

1968 में हुआ था सम­ाौता

गौरतलब है कि मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मस्थली और ईदगाह व मस्जिद बराबर में हैं। दोनों पक्षों में करीब 16 मर्तबा अदालत में जाने के बाद 1968 में सम­ाौता हो गया था, तब से कोई विवाद नहीं हुआ। पिछले कई महीनों से इसे मुद्दे को फिर गरमाया जा रहा है। करीब तीन महीने पहले अदालत में याचिका दायर की थी जिसके बाद हाईकोर्ट में भी वाद दायर किया गया है। करीब पचास साल से शांत मथुरा में छह दिसंबर को जलाभिषेक के एलान से फिर गरमाहट बढ़ गई है। याद रहे कि श्रीकृष्ण मंदिर और ईदगाह व मस्जिद के रास्ते अलग-अलग हैं।

डिप्टी सीएम के ट्वीट से बढ़ी गर्मी

दरअसल, प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मोर्य के ट्वीट …अब मथुरा की बारी है.. से पूरे प्रदेश में मथुरा का मुद्दा गरमाया है। वर्ना ऐसे आंदोलन मथुरा के लोगों तक सीमित रहते हैं। हालांकि डिप्टी सीएम के ट्वीट के सियासत माना जा रहा है। एक मीडिया संस्थान ने इस ट्वीट से भाजपा को लाभ होगा विषय पर छोटा सर्वे भी कराया था जिसमें नजीता बहुत अच्छा नहीं आया। विपक्ष ने इसे विकास जैसे मुद्दों से ध्यान भटकाने, सरकार की कमियां छिपाने व जनता को महंगाई, बेरोजगारी जैसे ज्वलंत मुद्दों से भटकाने की कोशिश बताया है।

पुलिस व सीआरपीएफ मुस्तैद

एसपी सिटी मथुरा के मुताबिक 6 दिसंबर को लेकर शहर की सुरक्षा दो सुपर जोन, चार जोन और आठ सेक्टरों में बांटी गई है। तीन से लेकर छह दिसंबर तक करीब 2100 पुलिस और पैरामिलिट्री फोर्स के जवानों के हाथ में कमान होगी। शहर का माहौल खराब करने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा। शहर का माहौल शांत बना रहे, इसका पुलिस-प्रशासन ने सुरक्षा का पूरा खाका खींच लिया है। चप्पे-चप्पे पर पुलिस और पैरा मिलिट्री फोर्स को मुस्तैद किया जाएगा। इसके लिए पुलिस-प्रशासन के अफसर और खुफिया विभाग भी नजरें बनाए हुए हैं। पल-पल की जानकारी वरिष्ठ पुलिस अधिकारी को दी जा रही है। नारायणी सेना और अखिल भारत हिंदू महासभा के पदाधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने से नहीं चूकने पर पुलिस ने अपनी मंशा साफ कर दी है। शहर के सभी थाना क्षेत्रों में अफसरों के नेतृत्व में पुलिस व सीआरपीएफ के साथ फ्लैग मार्च निकाला गया। सख्त कार्रवाई की चेतावनी के साथ धारा 144 भी लगा दी गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button