हरदोई

पिछड़ा समाज,देश में बहुजनों के महत्व को समझ जाए तो देश में सामाजिक और राजनीतिक मायने बदल जाएंगे -टीम लक्ष्य

पिछड़ा समाज, बहुजन के महत्व को समझ जाये तो देश में सामाजिक व राजनीति के मायने बदल जायेंगे : लक्ष्य

हरदोई – संडीला || दिनांक 7 मार्च 2021 को लक्ष्य की हरदोई टीम ने बहुजन जागरूकता अभियान के तहत लक्ष्य युथ कमांडर सुनील कुमार गौतम के नेतृत्व में एक कैडर कैम्प का आयोजन जिला हरदोई की तहसील संडीला ब्लॉक भरावन के गांव बसंतापुर में किया । इस कार्यक्रम में कई गांव के बहुजन समाज के लोगों ने भाग लिया जिसमें पुरुष, महिलाओं व युवाओं ने भी बढ़चढ़कर हिस्सा लिया ।

लक्ष्य की महिला कमांडरों द्वारा सामाजिक क्षेत्र में किये जा रहे कार्यों की तस्वीर समाज में साफ दिखाई देने लगी है। लक्ष्य कैडरों में जुट रही बहुजन समाज के लोगों की भीड़ इस बात की गवाह है। यह एक सामाजिक प्रयोग है जहाँ बहुजन समाज की महिलाएं जो घर की चार दीवारी में बंद थी या यूँ कहे कि वह गुलामों की गुलाम थी जिसने आज सारी बेड़ियों को तोड़ डाला है और समाज का नेतृत्व करने लगी है ।

*पिछड़ा समाज बहुजन के महत्व को समझ जाये, तो देश में सामाजिक व राजनीति के मायने बदल जायेंगे अर्थात् जिस दिन पिछड़ा समाज बहुजन समाज के मायनो को अच्छे से समझ जायेगा उसी दिन देश में परिवर्तन की लहर उठ जाएगी ।

*महापुरुषों ने भी कहा है कि अगर पिछड़ों को अपने पिछड़ेपन का अहसास हो जाये तो देश की तस्वीर कुछ और ही होगी जहाँ कोई भेदभाव, ऊंच नीच, गरीबी लाचारी, शोषण नाम की कोई बीमारी नहीं होगी और देश के संसाधनाओ पर मुट्ठीभर लोग का कब्ज़ा न होकर वह सबका होगा और देश के सभी लोग खुशाल होंगे। यह बात लक्ष्य कमांडरों ने अपने सम्बोधन में कही ।

*इस कैडर कैंप में लक्ष्य महिला कमांडर कंचन नैना, संघमित्रा गौतम, रेखा आर्या, राजकुमारी कौशल, रश्मि गौतम, सुमन गौतम, अनीता गौतम, बीना मौर्या, इंद्राणी बौद्ध, रेनू गौतम, कुलदीप सिंह बौद्ध, एम एल आर्या, एस पी कौशल, सुनील कुमार गौतम, सुनील भारती, ए के आनन्द, गंगाराम बौद्ध, राजकिशोर गौतम, शैलेन्द्र राव, आदि ने अपनी बात रखी।

*इसके अलावा लक्ष्य कमांडर शैलेन्द्र बौद्ध, रामनरेश गौतम, धर्मेन्द्र कुमार, धर्मेन्द्र कुमार मिस्त्री, मनीष गौतम, रजनीश गौतम, डाॅ विभूति लाल,भगवानदीन बौद्ध, रामपाल बौद्ध, राजेश कुमार बौद्ध, रामलाल बौद्ध, अनंतलाल बौद्ध, रामविलास बौद्ध, मनोज, रामभरोसे, कमलेश कुमार, रमेश, श्रीपाल, रामनारायन, रामस्वरूप, विनोद गौतम, ज्ञानेन्द्र गौतम (ज्ञानी), रितेश गौतम (बबलू), चंद्रप्रकाश चौधरी (भैनू), पुत्ती लाल, राजपाल गौतम, अनिल कुमार गौतम, लल्लन गौतम, अशोक गौतम, राकेश गौतम (शेरा), लवकुश कुमार, गोलू गौतम आदि की भी सक्रिय सहभागिता रही ।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *