उत्तर प्रदेशगोरखपुरराजनीतिराष्ट्रीय

पीएम मोदी गोरखपुर में बोले-लाल टोपी वाले यूपी के लिए रेड अलर्ट यानी खतरे की घंटी

PM Modi said in Gorakhpur - Red alert means alarm bell for UP with red cap

07 दिसंबर 21, गोरखपुर। प्रधानमेंत्री नरेंद्र मोदी ने करीब दस हजार करोड़ की योजनाओ का लोकार्पण करने के बाद जनता को संबोधने में बगैर नाम लिए सपा पर तीखे वार किये। उन्होंने लाल टोपी वालों को प्रदेश के लिए रेड अलर्ट यानी खतरे की घंटी बताते हुए कहा कि इन्हें आतंकवादियों पर मेहरबानी दिखाने और उन्हें जेल से छुड़ाने के लिए सरकार बनानी है। उन्होंने कहा कि लोलटोपी वालों को सिर्फ लाल बत्ती चाहिए, घोटाले करने के लिए, अपनी तिजोरी भरने के लिए और माफियाओं का साथ देने के लिए। उन्होंने किसानों के लिए सब्सिडी बढ़ाने के साथ किसानों की समस्याओं के समाधान के प्रति प्रतिबद्धा जताई। मोदी ने तकरीर की शुरुआत भोजपुरी बोलकर की।

पूर्वांचल में बढ़ेगा रोजगार : मोदी 

मुख्यमंत्री योगी आदित्नाथ और महामहिम राज्यपाल आनंदी बेन पटेल के साथ हजारों की भीड़ की मौजूदगी में करीब दस हजार करोड़ रुपये की विकास योजनाएं खाद कारखाना और एम्स का लोकार्पेण करके जनता को समर्पित कर दिया। इससे पहले उन्होंने गोरखपुर में प्रदर्शनी का अवलोकन किया। प्रधानमंत्री आज यहां 9,600 करोड़ रुपये से अधिक मूल्?य की विकास परियोजनाएं राष्?ट्र को समर्पित करने आए हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा से पहले की दो सरकारों ने दस साल में जितना भुगतान गन्ना किसानों को किया था लगभग उतना भुगतान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने साढ़े चार साल में करके किसानों को राहत पहुंचाई है। उन्होंने कहा कि जब डबल इंजन की सरकार होती है तो विकास तेजी से होता है और जब नीयत नेक होती है को आपदाएं भी रास्ता नहीं रोकती हैं। पांच साल पहले शिलान्यास करने आया था और आज इसका लोकापर्ण कर रहा हूं, जो वाकई काबिले तारीफ है। इसके लिए प्रदेश की जनता भी बधाई की पात्र है। जिस तरह से भगीरथ जी गंगा जी को लेकर आए थे वैसे ही इस उर्वरक प्लांट तक ईंधन पहुंचाने के लिए ऊर्जा गंगा को लेकर लाया गया है। पीएम ऊर्जा गंगा गैस पाइपलाइन योजना के तहत हल्दिया से जगदीशपुर पाइपलाइन बिछाई गई है। इस पाइपलाइन से पूर्वी भारत के दर्जनों जिÞलों में सस्ती गैस मिलने लगी है। विकास की धुरी बनकर उभरा है प्रदेश का पूर्वांचल क्षेत्र। इससे किसानों को लाभ मिलेगा और युवाओं को रोजगार मिलेगा।

खाद कारखाना 24 साल रहा बंद : योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गोरखपुर का उर्वरक कारखाना ा 1990 में बंद हो गया था। 1990 से लेकर 2014 तक यानी 24 वर्षों तक किसी ने इसकी सुध लेने का काम नहीं किया। लेकिन 2016 में पीएम मोदी ने गोरखपुर में इसका शिलान्यास किया और पहले स्थापित कारखाने की तुलना में ये चार गुना बड़ा है। इस दौरान राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद रहे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गोरखपुर में स्वागत किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button