Uncategorized

पीयूष हत्याकांड घटना स्थल पर जांच करने पहुंचे कानपुर जोन के आईजी प्रशांत कुमार

अमृतपुर फर्रुखाबाद 24webnews:- जमीनी रंजिश के चलते दिनदहाड़े हुए नरसंहार में युवक की मौत व माता-पिता घायल हो जाने की घटना की जानकारी मिलने पर घटना स्थल पर जांच करने पहुंचे कानपुर जोन के आईजी प्रशांत कुमार ने पीडि़त पक्ष व अन्य लोगों से पूछताछ के बाद बताया कि पीडि़त परिवार की ओर से पुलिस पर जो आरोप लगाये गये है। उसके लिए टीम गठित कर दी गई है और अपर पुलिस अधीक्षक को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है।जांच में जो भी दोषी पाया जायेगा, उसके विरुद्ध कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने यह भी बताया कि घटना की सूचना मिलने से घटना स्थल तक पहुंचने तक कॉल डिटेल की जांच पड़ताल की जायेगी कि घटना स्थल पर पुलिस किस समय पहुंची, विलंब से पहुंची है तो कार्यवाही होगी। हत्यारोपी पर गैंगस्टर की कार्यवाही भी की जा चुकी है और उनके विरुद्ध पुलिस के पास वारंट किस तिथि पर आया है। उसकी भी जांच करायी जायेगी। आईजी प्रशांत कुमार ने बताया कि मृतक के भाई अनुभव अवस्थी पुत्र दिनेश अवस्थी निवासी अमृतपुर की ओर से तहरीर दी गई है। जिसमें रामबाबू उर्फ बड़े लल्ला, अरुण उर्फ नन्हे लल्ला, विपिन, विनोद उर्फ भूरे पुत्रगण स्व0 राजेन्द्र व अंकित, अनमोल पुत्रगण रामबाबू उर्फ बड़े लल्ला, अक्षत पुत्र अरुण उर्फ नन्हे लल्ला से जमीनी रंजिश चल रही है। इसी के तहत उपरोक्त सभी लोगों ने दो तीन अज्ञात के साथ मिलकर नाजायज तमंचे, लाठी-डंडे व धारधार हथियार से लैस होकर घर में घुस आये और जान से मारने की नियत से मेरे छोटे भाई पीयूष को पकड़कर अपने साथ ले जाने लगे। पिता दिनेश चन्द्र, मां मीरा देवी व बहन दीक्षा ने भाई को छुड़ाने का प्रयास किया और धमकी दी कि आज पूरे परिवार को जान से मार देंगे। पिता- मां-बहन पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। जिससे पिता, मां, बहन घायल हो गयी। आरोपी मेरे भाई का अपहरण कर अपने घर ले जाकर गला काटकर उसकी हत्या कर दी। आईजी ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए टीमों का गठन कर दिया है। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही आरोपियों की गिरफ्तारी की जायेगी।मृतक पीयूष के भाई ने 11 लोगों के खिलाफ भाई पीयूष का अपहरण कर गला रेंतने तथा पिता दिनेश व मां मीरा देवी को गोली मारकर घायल करने तथा अंधाधुंध फायरिंग कर दहशत फैलाने के आरोप में थाना पुलिस को तहरीर दी है। वहीं देर शाम आईजी प्रशांत कुमार ने घटनास्थल का जायजा लिया। पुलिस ने रामबाबू, अरुण, विपिन, विनोद पुत्रगण स्व0 राजेंद्र, अंकित, अनमोल पुत्रगण रामबाबू, प्रीती पत्नी अरुण, सीमा पत्नी रामबाबू, अलका पत्नी विपिन, मुस्कान पुत्री रामबाबू, अक्षत पुत्र अरुण के विरुद्ध धारा 147, 148, 149, 452, 506, 302, 307, 364/34 आई.पी.सी. के तहत के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button