फ़र्रूख़ाबाद

फर्रुखाबाद :- ऐतिहासिक बौद्ध नगरी संकिसा को सरकार ने नगर पंचायत क्षेत्र घोषित किया

संकिसा फर्रुखाबाद:- यूपी सरकार ने संकिसा को नगर पंचायत में शामिल करने की घोषणा कर दी है। विश्व के मानचित्र पर बौद्ध अनुयायियों का तीर्थ तीर्थ स्थल संकिसा अब नगर पंचायत में शामिल हो गया है मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चुनाव से पूर्व संकिसा में अपने भ्रमण के दौरान जो वादा किया था उसे निभाया है शासन के नगर निक विकास अनुभाग ने अधिसूचना जारी कर दी है। अब संकिसा का अधिक से अधिक विकास हो सकेगा। संचिता का प्राचीन नाम शाकस्य है यहां पर लोगों की मानता है कि भगवान बुध सोने की सीढ़ियों से उतर कर स्वर्ग पर स्वर्ग से यहां धरती पर आए थे। बौद्ध अनुयाई यहां पूरे विश्व से आते हैं कि उनका तीर्थ स्थल है। इसके अलावा शहर में तीर्थ कर विमलनाथ जी का यह ज्ञान स्थान माना जाता है

यू

वर्तमान संकिसा एक टीले पर बसा छोटे से एक गांव है राज्य सरकार ने नगरपालिका अधिनियम के तहत संस्था के उत्तर बसे बसंतपुर कुंतालपुर इमादपुर के सब मेरापुर पर मुखिया क्या नगर अर्जुनपुर रखना हमीर खेड़ा सिधौली राजस्व गांव को इस नई नगर पंचायत में शामिल किया है पटना रेलवे स्टेशन से कुछ दूरी पर बसा संकिसा का उल्लेख महाभारत में भी हुआ है उसको समय यह नगर पांचाल की राजधानी काम पर से अधिक दूर नहीं था महाजनपद युग में संकिसा पांचाल जनपद का प्रसिद्ध नगर था। बहुत अनुश्री के अनुसार यह वही स्थान है जहां बौद्ध केंद्र है। वाह भगवान बुद्ध स्वर्ग से स्वर्ण सीढ़ियों से उतरकर पृथ्वी पर आए थे। इस प्रकार गौतम बुद्ध के समय में भी यह एक ख्याति प्राप्त नगर था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संकिसा के विकास का यह वादा भी किया था। ऐतिहासिक बौद्ध नगरी संकिसा को नगर पंचायत क्षेत्र घोषित कर दिया है। नगर विकास अनुभाग ने अधिसूचना जारी होने की तिथि से 15 दिन के अंदर आपत्तियां मांगी है। आपत्तियां सूबे के प्रमुख सचिव उत्तर प्रदेश शासन नगर विकास अनुभाग 1 बापू भवन लखनऊ को भेजी जानी थी। प्रदेश सरकार ने 4 अगस्त 2022 को सूचना जारी की है और यह आदेश आज 16 जारी किया गया है। नगर पंचायत संकिसा क्षेत्र में ग्राम इमादपुर केसर, मेरापुर, सिधौली, श्योगनपुर, अर्जुनपुर पखना हमीरपुर खेड़ा पुनपालपुर मानपुर केसर संकिसा बसंतपुर गांव के अनेकों भूमि के गाटा नंबरों को शामिल किया गया है। संकिसा नगर पंचायत क्षेत्र घोषित होने की जानकारी मिलते ही नगर पंचायत में शामिल ग्राम प्रधानों में मायूसी छा गई है। प्रधान हजारों रुपए खर्च करके चुनाव जीते हैं जो लागत के अलावा काफी मुनाफा कमाई जाने की उम्मीद लगाए बैठे हैं। जबकि क्षेत्रीय ग्रामीणों में नगर पंचायत की सुविधाएं मिलने के कारण खुशी का माहौल है। विधायक सुशील शाक्य ने नवाबगंज को टाउन एरिया घोषित करवाने के बाद संकिसा को भी टाउन एरिया का दर्जा दिलाने का प्रयास किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button