उत्तर प्रदेशराजनीतिलखनऊ

लखनऊ में बेरोजगारों पर लाठीचार्ज ने पकड़ा तूल : विपक्ष ने सरकार को घेरा

Lathi charge caught the unemployed in Lucknow: Opposition surrounded the government

05 दिसंबर 21, लखनऊ। उप्र में 69000 शिेक्षक भर्ती की मांग को लेकर बीती रात प्रदर्शन करते अभ्यर्थियों पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज करने का मुद्दा तूल पकड़ गया है। विपक्ष बेरोजगारी और बेरोजगारों की प्रताड़ना को लेकर सरकार पर हमलावर हो गया। प्रदेश में चुनाव के नजदीक होने पर पुलिस का यह रवैया सियासी दलों के लिए हथियार बन रहा है।

युवा कहे आज का नहीं चाहिये भाजपा

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा के राज में भावी शिक्षकों पर लाठीचार्ज करके विश्व गुरु बनने का मार्ग प्रशस्त किया जा रहा है। हम 69000  शिक्षक भर्ती की माँगों के साथ हैं। युवा कहे आज का प्त नहीं चाहिए भाजपा। इसी तरह बसपा प्रमुख मायावती ने कहा है कि यूपी में 69 हजार शिक्षक भर्ती के पुराने व लम्बित मामले को लेकर शान्तिपूर्ण कैंडल मार्च निकालने वाले सैकड़ों युवाओं का पुलिस लाठीचार्ज करके घायल करना अति दुखद व निन्दनीय है। सरकार इनकी जायज माँगों पर तुरन्त सहानुभूतिपूर्वक विचार करे।

भाजपा वोट मांगने आए तो याद रखना

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा है कि रोजगार माँगने वालों को उप्र सरकार ने लाठियाँ  दीं हैं, जब भाजपा वोट माँगने आए तो याद रखना। इसी तरह प्रियंका गांधी ने कहा है कि उप्र के युवा हाथों में मोमबत्तियों का उजाला लेकर आवाज उठा रहे थे कि “रोजगार दो”, लेकिन अंधेरगर्दी की पर्याय बन चुकी योगी जी की सरकार ने उन युवाओं को लाठियां दीं। युवा साथियों, ये कितनी भी लाठियां चलाएं, रोजगार के हक की लड़ाई की लौ जलाए रखना, मैं इस लड़ाई में आपके साथ हूं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button