उत्तर प्रदेशराजनीतिलखनऊ

सपा-रालोद गठबंधन में 32 सीटों पर सहमति, आप भी जानिये कहां लड़ेगा रालोद प्रत्याशी

Consensus on 32 seats in SP-RLD alliance, you also know where RLD candidate will fight

26 नवंबर 21, लखनऊ : सपा और रालोद का गठबंधन लगभग तय होने के बाद अब सीटों पर भी बंटवारा होने लगा है। सियासी गलियारों में चर्चा है कि करीब आधा दर्जन सीटों को छोड़कर बाकी पर सीट बंटवारे पर भी सहमति बन गई है। जो खबरें आ रही हैं उसमें मुरादाबाद की कांठ और अमरोहा की नौगावां सीट रालोद के खाते में जा सकती है। इसी तरह करीब 40 से अेिधक सीटों पर रालोद ने अपनी दावेदारी कर दी है जिसमें अधिकांश पर दोनों दलों में आम राय बनती दिख रही है।

जल्दी होगा गठबंधन का एलान

किसान आंदोलन और जाट समाज की नाराजगी को देखते हुए सपा और रालोद गठबंधन वक्त की जरूरत बन गया था। सियासी जानकार मानते हैं कि वोटों का बंटवारा भाजपा को लाभ पहुंचा सकता है। जाट समाज की नाराजगी का फायदा जयंत चौधरी को मिला और सपा पश्चिमी उप्र की करीब 36 सीटें देने को तैयार हो गई है। सियासी सूत्र बताते हैं कि जयंत चौधरी चाहते हैं कि उनकी पार्टी 40 से अधिक सीटों पर चुनाव लड़े, साथ ही वह मध्य उप्र की एक-दो सीट पर भी अपना प्रत्याशी लड़ाने के इच्छुक हैं जिससे उनकी पार्टी का मिथक टूट सके। माना जा रहा है कि जल्दी ही गठबंधन का एलान हो सकता है।

इन सीटों पर हो गया फैसला

खबर आई है कि सपा और रालोद में 32 सीटों पर लगभग सहमति बन गई है। यह सीटें हैं सहारनपुर जिले की देवबंद, रामपुर मनिहारान, मुजफ्फरनगर जिले से मुजफ्फरनगर शहर, पुरकाजी, मीरापुर, खतौली, भुडाना, बिजनौर जिले में बिजनौर शहर व नहटोर, मेरठ जिले से मेरठ कैंट, सिवालखास, शामली की शामली,
थाना भवन, बागपत में बागपत, छपरौली, बढ़ोत, गाजियाबाद जिले की मोदीनगर,
मुरादनगर, लोनी, हापुड़ व गढ़मुक्तेश्वर, अमरोहा जिले से नोगावां सादात व मुरादाबाद
जिले की कांठ सीट शामिल है। इसी तरह बुलंदशहर जिले में अनूपशहर व बुलंदशहर
समेत चार सीटें, अलीगढ़ में अलीगढ़, खेर, इगलास, हाथरस, सादाबाद, मथुरा, छाता
बलदेव, गोवर्धन, आगरा में फतहपुर सीकरी व दयालबाग शामिल है।

अखिलेश-जयंत की पसंद के होंगे प्रत्याशी

राजनैतिक गलियारों में अब सीटों के बंटवारे पर अधिक जोर है। अबतक जो समाचार मिले हैं उसमें मुरादाबाद की कांठ, अमरोहा की नौगावां सादात सीट रालोद के खाते में जााती दिख रही है। दोनों ही सीटों पर भाजपा का कब्जा है। इसी तरह बागपत, बड़ोत, छपरौली, मोदी नगर, मुरादनगर, लोनी, गढ़मुक्तेश्वर, बुलंदशहर, अनूप नगर, जेवर, अलीगढ़, सादाबाद, खैर, छाता, फतेहपुर सीकरी, देवबंद, रामपुर मनीहारन, थाना भवन, शामली, हाथरस आदि सीटों पर रालोद ने दावेदारी की है। अखिलेश यादव और जयंत चौधरी की फोटो सोशल मीडिया पर जारी होने के बाद प्रदेश की जनता ने मान लिया था कि दोनों दलों में गठबंधन पर सहमति बन गई है। अब दोनों दलों के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर भी खबरें बाहर आने लगी हैं। अधिकांश सीटों पर दोनों दलों की सहमति के बीच कुछ सीटों पर दोनों नेताओं की पसंद का प्रत्याशी भी उतारने का फार्मूला बनाया गया है। माना जा रहा है कि जिन सीटों पर फैसला नहीं होगा वहां यह फार्मूला अपना जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button