उत्तर प्रदेशमुरादाबादराष्ट्रीय

सफलता के पांच सूत्र : सहनशीलता, मेहनत, लगन, आज्ञाकारिता व समय का सदुपयोग

Five formulas of success: Tolerance, hard work, perseverance, obedience and good use of time

25 नवंबर 21
मुरादाबाद (प्रो. श्याम सुंदर भाटिया) : तीर्थंकर महावीर यूनिर्सिटी के कॉलेज आॅफ नर्सिंग की उप-प्राचार्या प्रो. एम जसलीन ने कहा, यदि हम असफलता से डरकर प्रयास करना बंद कर देंगे तो कभी भी लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर सकते हैं। यदि हमें जीवन में लक्ष्यों को प्राप्त करना है तो हमें बार-बार प्रयास करते रहना चाहिए। प्रयास करने से हम एक न एक दिन अवश्य ही अपने लक्ष्य को प्राप्त कर लेंगे। प्रो. जसलीन कॉलेज आॅफ नर्सिंग में एसएनए की ओर से आॅनलाइन गेस्ट लेक्चर वर्क आॅन योर फेलियर टू अचीव सक्सेस में बतौर मुख्य अतिथि बोल रही थीं।

असफलता है सफलता की पहली सीढ़ी

बतौर मुख्य वक्ता रॉबिन ने छात्रों को सफलता के विभिन्न पहलुओं सहनशीलता, निरन्तर मेहनत, लगन, आज्ञाकारिता, समय का सदुपयोग आदि पर विस्तार से बताया। रॉबिन बोलीं, इन पांचों बातों का जीवन में सन्तुलित समावेशन करके हम सफल हो सकते हैं। रॉबिन ने जीवन मे असफलता के महत्व पर भी प्रकाश डालते हुए कहा, सफलता प्राप्ति में असफलता भी एक सीढ़ी है। असफल होने पर हमें उसके कारणों को जानकर और अच्छे से प्रयास करके सफलता प्राप्त करनी चाहिए।

लक्ष्य को ध्यान रखकर करें मेहनत

असफलता सफलता का ही एक हिस्सा है, जिससे हमें निराश नहीं होना चाहिए बल्कि उससे सबक लेकर हमें और अधिक परिश्रम करना चाहिए। बोलीं, अपने उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए अपनी विफलताओं पर कार्य करना अति आवश्यक है।आॅनलाइन गेस्ट लेक्चर में बेथानी कॉलेज आॅफ नर्सिंग, छत्तीसगढ़ के मेंटल हैल्थ नर्सिंग डिपार्टमेंट की एसोसिएट प्रोफेसर प्रगति एस. रॉबिन के अलावा मिस अभिलाषा, श्री अरनेस्ट, मिस पूजा चंद्र, मिस मनीषा कौर के संग गेस्ट लेक्चर में नर्सिग के करीब 421 छात्र-छात्राएं भी जुडे रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button