उत्तर प्रदेशमुरादाबादराजनीतिस्वास्थ्य

सरकार से खफा हुए प्रदेश के फार्मेसिस्ट, जाएंगे 20 से बेमियादी हड़ताल पर

UP's Pharmacists on agitation from four, will go on indefinite strike from 20

24 नवंबर 21
मुरादाबाद : प्रदेश सरकार की अनदेखी से खफा डिप्लोमा फार्मोसिस्ट एसोसिएशन ने हड़ताल का एलान कर दिया है। एसोसिएशन ने शुरू में आवश्यक सेवाओं को जारी रखने का एलान किया है, लेकिन बाद में सभी जरूरी सेवाएं भी ठप करने की घोषणा करके सरकार का ध्यान आकर्षिेत करने का प्रयास किया है। सूबे के सभी सरकारी अस्पतालों में चरणबद्ध आंदोलन की शुरुआत 4 दिसंबर से हो रही है। इसके लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण के अपर मुख्य सचिव को ज्ञापन दे दिया है।

शासन कर है समस्याओं की अनदेखी

डिप्लोमा फार्मोसिस्ट एसोसिएशन के तीसरी मर्तबा अध्यक्ष चुने गए संदीप बडोला ने बताया कि शासन प्रशासन को हड़ताल का नोटिस दे दिया गया है। उन्होंने बताया कि शासन की अनदेखी के चलते महीनों से दो पक्षीय वार्ता भी नहीं हो सकी है। प्रतीत होता है कि शासन फार्मेसिस्ट की मांगों को गंभीरता से नहीं ले रहा है, इसलिए हड़ताल का फैसला लिया गया है। श्री बडोला ने कहा कि फार्मेसिस्ट चिकित्सा व्यवस्था की रीढ़ हैं और दिन रात मेहनत से कार्य भी करते हैं। शासन की हमारी मांगों के प्रति लापरवाही के कारण गुस्सा पनप रहा है।

चार दिसंबर से शुरू होगा आंदोलन

एसोसिएशन ने चरणबद्ध आंदोलन के तहत चार दिसंबर को जिला मुख्यालय पर मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय के सम्मुख धरना दिया जाएगा और मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रषित किया जाएगा। पांच से आठ दिसंबर तक प्रदेश के फार्मेसिस्ट संवर्ग के सभी कर्मी बांह पर काली पट्टी बांधकर विरोध प्रदर्शित करके सरकार का ध्यानाकर्षण करेंगे। इसके बाद नौ से 19 दिसंबर तक दो घंटे का कार्य बहिष्कार किया जाएगा जिसमें आकस्मिक सेवाएं व पोस्टमार्टम सेवा को बाधित नहीं किया जाएगा। बीस दिसंबर से सभी फार्मेसिस्ट बेमियादी हड़ताल पर चले जाएंगे जिसमें आकस्मिक सेवाएं व पोस्टमार्टम सेवाएं भी शामिल होंगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button