फर्रुखाबाद

पुलिस की सूझबूझ से अपहरण पीड़ित की बची जान, अपहरण करता झाड़ियों में फेककर भागे

थाना नवाबगंज: फर्रुखाबाद मिली जानकारी के अनुसार थाना अध्यक्ष अंकुश राघव अपने हमराहिओं के साथ गश्त पर निकले थे, तभी रात लगभग 10.30 बजे के करीब कस्बा सिरौली से आगे नगला गेरुआ के सामने बने डिग्री कॉलेज के समीप झाडिय़ों में एक युवक पड़ा दिखाई दिया। थानाध्यक्ष के मुताबिक उसकी आंखों पर पट्टी बंधी हुई थी और युवक झडिय़ों में पड़ा था। यह नजारा देखकर थानाध्यक्ष अंकुश राघव सतर्कता बरतते हुए युवक के पास पहुंचे और युवक को देखा तो वह युवक अपने हाथ पर चलाने लगा। युवक के मुंह पर पट्टी बंधी हुई थी। तथा हाथ भी बंधे हुए थे। यह देखकर थानाध्यक्ष ने अपने हमराही से युवक की का मुंह तथा हाथों की पट्टियां खुलवायीं और युवक को अपनी गाड़ी में बैठा लिया। घायलावस्था में युवक सहमा हुआ था। जिसको तत्काल थानाध्यक्ष थाने पर लेकर आए। और युवक से जानकारी की। अपहृत हुए युवक ने अपना नाम जितेंद्र उर्फ बी.पी. सिंह पुत्र हरी सिंह निवासी जनपद एटा के थाना अलीगंज के ग्राम टपुआ का निवासी बताया। उसने थाना पुलिस को जानकारी देते हुए बताया कि बीती ०२ अगस्त को उसका अपहरण किया गया था। जिसको आज रात में अज्ञात बदमाशों ने नवाबगंज थाना क्षेत्र में लाकर झाडिय़ों में बांधकर डाल दिया। अपहरण की बात सुनकर थानाध्यक्ष हैरान रह गये। उन्होंने घटना की सूचना वायरलेस के जरिए जनपद एटा के थाना अलीगंज पुलिस फोर्स को दी। जानकारी पाकर अलीगंज पुलिस के दरोगा संजय कुमार तथा दरोगा देवेंद्र सिंह रात में ही भारी पुलिस बल लेकर नवाबगंज थाने आ गए। अलीगंज पुलिस ने नवाबगंज थाना अध्यक्ष अंकुश राघव को बताया कि उनके थाने पर मुकदमा अपराध संख्या 258 /2021 धारा 147, 148, 323, 504, 365 आई.पी.सी. में मुकदमा दर्ज है। जिसके चलते युवक की तलाश की जा रही थी। अपहृत हुए युवक को थानाध्यक्ष अंकुश राघव रात में लगभग 3,३0 बजे अलीगंज पुलिस के सुपुर्द कर दिया। अलीगंज की पुलिस ने बताया कि थाने ले जाकर मामले की जांच कराकर आगे की कार्रवाई की जाये गी।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *