फ़र्रूख़ाबाद | ब्रेकिंग न्यूज़

सतीश मिश्रा ने प्रबुद्ध गोष्ठी में रखे अपने विचार व जम कर बीजेपी को कोसा ।

फर्रुखाबाद 24webnews उत्सव गेस्ट हाउस बढ़पुर में सोमवार को हुई विचार गोष्ठी में बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में साढ़े चार वर्ष से ब्राह्मणों का उत्पीड़न हो रहा है। ब्राह्मणों को निशाने पर रखकर ठिकाने लगाया जा रहा है। नारी सुरक्षा की बात करने वाली भाजपा की सरकार में हर दो घंटे में दुष्कर्म हो रहा है।
बढ़पुर गेस्ट हाउस में प्रबुद्ध वर्ग के सम्मान, सुरक्षा और तरक्की को लेकर हुई विचार गोष्ठी में सतीश मिश्रा शाम करीब पौने चार बजे पहुंचे। उन्होंने कहा कि साढ़े चार वर्ष से ब्राह्मण और दलितों का उत्पीड़न हो रहा है। ब्राह्मणों को निशाने पर रखकर ठिकाने लगाया जा रहा है। वर्ष 2017 में भाजपा सरकार बनने के कुछ दिनों बाद ही जुलाई में रायबरेली में पांच ब्राह्मणों को जलाकर मार दिया गया। उन्हें दुर्दांत अपराधी बताया गया। ब्राह्मणों को कहीं गोली मारी गई तो कहीं एनकाउंटर कराए गए।

सभा में उपस्थित भीड़


कानपुर के बिकरू कांड का जिक्र करते हुए बसपा महासचिव ने कहा कि खुशी दुबे को शादी के दूसरे दिन ही घर से उठाकर तीन दिन अज्ञात स्थान पर रखा गया। बाद में उसे जेल भेज दिया गया। कहा गया कि खुशी की किसी कीमत पर जमानत नहीं होनी चाहिए। उसके पति की हत्या की गई। जेल में उत्पीड़न किया गया।
सतीश मिश्रा ने हाथरस की घटना को लेकर भी भाजपा को घेरा। परिजनों को लड़की का अंतिम संस्कार नहीं करने दिया गया और शव को मिट्टी का तेल डालकर रात ढाई बजे जला दिया गया। भाजपा सरकार ने रोजगार दिया नहीं, नौकरियां छीनी हैं। सरकार युवाओं से कह रही है कि नौकरी नहीं दे पाएंगे और वह अपना रोजगार कर पकौड़ा बेचें। महंगाई, नोट बंदी, छोटे कारखाने बंद कराने और कृषि कानूनों को लेकर भी भाजपा पर आरोप लगाए। लगभग 500 किसानों की मौत हो चुकी हैं
उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर के नाम पर हजारों करोड़ रुपये वसूले गए लेकिन कोई काम नहीं कराया गया। कई मंदिर तोड़े गए। उन्होंने भाजपा की तुलना सपा सरकार से करते हुए कहा कि बसपा की सरकार में ही सभी का भला है। अब अपनी ताकत दिखाने का समय आ गया है। प्रदेश में ब्राह्मण 16 प्रतिशत और दलित 23 प्रतिशत हैं। दोनों एक होकर 39 प्रतिशत होते हैं, जबकि 30 प्रतिशत जनता सरकार बना सकती है।
पूर्व कैबिनेट मंत्री नकुल दुबे ने कहा कि भाजपा की सत्ता में ब्राह्मणों का सिर्फ अपमान हुआ है। क्या हम लोग इसी योग्य हैं। ब्राह्मणों ने भाजपा को सत्ता तक पहुंचाया। अब अपमान का बदला लेने का समय आ गया है। अब ब्राह्मण भाजपा को प्रदेश से उखाड़ फेकेंगे ।सतीस चंद्र मिश्रा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में 20 लाख शिक्षक वित्तविहीन के है व मानदेय पर भी उनकी समस्या का हल बहन जी की सरकार बनने पर 3 माह में किया जायेगा । शिक्षा मित्रों का नाम न लेते हुए इसारे में कहा बीजेपी सरकार में शिक्षक बहनों ने अपने सिर के बाल मुड़वाकर सरकार का विरोध किया तो योगी आदित्यनाथ ने कहा इनके तो यह कर्म है जो यह भुगत रहे है।

भगवान शंकर की प्राण प्रतिष्ठा की गई मूर्तियों को भी तोड़ने का कार्य बीजेपी सरकार ने किया।
सभा में भगवान परशुराम के जयकारे गूंजते रहे। राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व कैबिनेट मंत्री का शंख की ध्वनि से स्वागत कर मंत्रोच्चार के साथ तिलक लगाया गया। उन्हें चंदन कोरी ने चांदी का हाथी भेंट किया , फरसा, गदा व चांदी का मुकुट भेंट किया गया। संचालन अंजुम दुबे ने किया। देवेश तिवारी, बसपा जिलाध्यक्ष नागेंद्र पाल, अरुण मिश्रा, जिला पंचायत सदस्य मुनीष मिश्रा, रामानंद मिश्रा, सोनू मिश्रा, सत्यम शुक्ला, रजत त्रिपाठी ,दुर्गा प्रसाद , रामरतन आदि मौजूद रहे।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *