आगराउत्तर प्रदेशराजनीति

CM Yogi visit in Agra: पीले रंग में नजर आएगी आगरा मैट्रो वर्चुअल अनावरण सीएम योगी कमिश्नरी चौराहा पहुंचे, जहां आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत हर घर तिरंगा कार्यक्रम के तहत जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाई।

ताजनगरी की मेट्रो पीले रंग की होगी। ट्रेन का पहला सेट फरवरी में गुजरात से आगरा पहुंच जाएगा। डिपो में ट्रेन के लिए टेस्ट ट्रैक तैयार हो चुका

सीएम योगी ने मेट्रो ट्रेन मॉडल का वर्चुअल अनावरण किया। इससे पहले सीएम योगी कमिश्नरी चौराहा पहुंचे, जहां आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत हर घर तिरंगा कार्यक्रम के तहत जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाई। और संबोधित किया

ताजनगरी की मेट्रो पीले रंग की होगी। ट्रेन का पहला सेट फरवरी में गुजरात से आगरा पहुंच जाएगा। डिपो में ट्रेन के लिए टेस्ट ट्रैक तैयार हो चुका है। सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा की मेट्रो ट्रेन मॉडल का अनावरण किया

आगरा में 8380 करोड रुपए से मेट्रो परियोजना पर काम चल रहा है। सोमवार को आगरा पहुंचे सीएम योगी ने मेट्रो डिपो का निरीक्षण किया। इसके बाद डिपो में पीपल का पौधा लगाया, इससे पहले मुख्यमंत्री ने आगरा में हर घर तिरंगा यात्रा के लिए जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। दोपहर में मुख्यमंत्री भारतीय जनता युवा मोर्चा के लिए प्रदेश प्रशिक्षण वर्ग में शामिल होंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मेट्रो ट्रेन मॉडल का वर्चुअल अनावरण किया। गुजरात के सालवी में एलस्टॉम कंपनी मेट्रो ट्रेन के इन कोचों को बना रही है। आगरा के लिए कुल 84 कोच बनेंगे। 28 मेट्रो ट्रेनें आगरा को मिलेंगी। प्रत्येक ट्रेन में तीन कोच होंगे। इनमें आगे-पीछे दो ड्राइविंग कार और बीच में एक ट्रेलर कार कोच हैं।

बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 7 दिसंबर 2020 को आगरा मेट्रो परियोजना का वर्चुअल शिलान्यास भी  किया था। 8380 करोड़ रुपये की इस परियोजना के लिए उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (यूपीएमआरसी) ने यूरोपियन निवेश बैंक से करीब 4500 करोड़ रुपये का ऋण लिया है। मार्च 2024 तक आगरा में छह स्टेशन के बीच मेट्रो ट्रायल का लक्ष्य है।

छह मेट्रो स्टेशन हैं आगरा में निर्माणाधीन

पहले चरण में तीन एलिवेटिड व तीन भूमिगत मेट्रो स्टेशन निर्माणधीन हैं। एलिवेटिड सेक्शन पर 283 करोड़ रुपये खर्च होंगे। जबकि 112 करोड़ रुपये से डिपो बन रही है। एलिवेटिड सेक्शन व डिपो में ट्रैक बिछाने का काम शुरू हो चुका है। सिकंदरा से ताजपूर्वी गेट तक प्रस्तावित 14 किमी. लंबे पहले कॉरिडोर में 13 स्टेशन हैं।

जनवरी 2020 में यूपीएमआरसी ने बॉम्बार्डियर कंपनी से मेट्रो ट्रेन कोच बनाने का करार किया था। फिर एलस्टॉम ने बॉम्बार्डियर कंपनी को खरीद लिया। इसके बाद कानपुर और आगरा मेट्रो के लिए एलस्टॉम 2051 करोड़ रुपये की लागत से कुल 67 ट्रेन बना रही है। कानपुर के लिए पहली ट्रेन की डिलीवरी हो चुकी है। इनमें 39 ट्रेन कानपुर व 28 ट्रेन आगरा आएंगी।

Reporter -Pushpendra kumar 

 

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button