फ़र्रूख़ाबाद

साधन सहकारी समिति पर दलित किसान के साथ बावन हजार की अधिकारियों ने की धोखाधड़ी

साधन सहकारी समिति गनीपुर जोगपुर नवाबगंज में दलित किसान के साथ धोखाधड़ी का मामला सामने आया है अनिल कुमार पुत्र रुक मंगल सिंह निवासी चांदपुर थाना नवाबगंज व रामाधार पुत्र रामनिवास ब्लॉक भटासा के साथ धन की कीमत अठारह सौ से ज्यादा प्रति कुंतल की दर से बिक्री किया था बिक्री के समय सचिव शिवराज सिंह और रामनिवास पुत्र हुकुम सिंह निवासी ग्राम नगला बारंग थाना नवाबगंज हाल निवासी गनिपुर थाना नवाबगंज खाका सर्वेश सिंह ने रसीद देने से मना किया था कि अभी सर्वर डाउन है प्रार्थी दूसरे दिन 17 एक 2021 को लेने गया तो फिर सर्वर डाउन होने का बहाना बनाकर अधिकारियों ने उसे रसीद नहीं दी कहा कि रसीद की कोई आवश्यकता नहीं है खाते में रुपए डाल दिया जायेगा प्रार्थी इंतजार करता रहा बैंक खाता चेक करता उसके खाते में कोई पैसा नहीं आया फिर मार्च में 2021 में उपरोक्त लोगों से शिकायत की सरकार से पैसा होने की शिकायत की तो कहने लगा शासन से मांगा गया है आने के बाद कर देंगे

प्रार्थी कई महीने तक रुपए ट्रांसफर होने का इंतजार करता रहा परंतु खाते में रुपए नहीं है परसों दिनांक 28 2021 को समय करीब 2:00 बजे प्रार्थी अपने बटाईदार महिमा चंद्र पुत्र राम चंद्र निवासी कक्योली थाना नवाबगंज के
के साथ साधन सहकारी समिति गनीपुर जोगपुर , नवाबगंज गया और अपने रुपए का सचिव से तकादा किया तो उपरोक्त लोगों प्रार्थी से नाराज होकर गाली गलौज करते हुए जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए गाली गलौज करने लगे कहा साले चमरे होकर मेरी तौहीन कर रहा है तुझे अभी मजा चखाते हैं इतना कहते हुए उपरोक्त दोनों लोग प्रार्थी के साथ मारपीट करने को आमादा हो गए मौके पर मौजूद अनिल कुमार पुत्र मंगल सिंह व रामाधार पुत्र रतीराम व अन्य कई लोगों ने प्रार्थी को बचाया तब उपरोक्त लोगों ने प्रार्थी को धमकी दी कि दोबारा तगादा करने आया तो जान से मार देंगे इस प्रकार प्रार्थी को उपरोक्त लोगों ने 28 कुंटल धान जिसकी कीमत बावन हजार रुपए है बदनीयती से हड़प लिया है ।और प्रार्थी के साथ विश्वासघात किया अपराधी घटना के बाद रिपोर्ट लिखने थाना नवाबगंज गया तो प्रार्थी की कोई सुनवाई नहीं हुई प्रार्थी मजबूर होकर घटना की बाबत श्रीमान जी को प्रार्थना पत्र दे रहा है आधा श्रीमान जी से विनम्र निवेदन है कि प्रार्थी
इस तरीके से प्रार्थी के साथ विश्वासघात किया गया है जो कि बहुत ही निंदनीय है अतः इसकी सुनवाई होनी ही चाहिए जिससे भविष्य में किसानों के साथ अन्य कई तरीके के लोग जो विश्वासघात करते हैं जो सरकारी कर्मचारी हैं उन पर कठोरतम कार्रवाई होनी चाहिए

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *