फर्रुखाबाद

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने के बाद भी कोई कार्यवाही नही हुई।दबंगों के हौसले बुलंद।

फर्रुखाबाद
24webnews farrukhabad की टीम इस जगह को देखने के लिए जाती है संयोगवश बाबा कपिल देव से मुलाकात होती है अब मंदिर को भी देखा बाबा ने फिर अपना वही पुराना दुखड़ा रोया और हम लोगों को वीडियो बनबाने में मदद की बाबा ने मुख्य गेट पर ले जाकर दिखाया तो वहां पर रह रहे राम सिंह कुशवाहा का परिवार व जवान लड़कों ने बाबा के साथ गाली गलौज किया व कैमरे के सामने बाबा की मारपीट कर दी व हमारा कैमरा तोड़ने का प्रयास किया ।
बाबा कपिल नाथ महाराज ने गोरखपुर जा कर अपने गुरू भाई के सहयोग से 15/06/2021 को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी से मिल कर जनता दरबार मे प्रार्थना पत्र दिया व अपने ऊपर हुए अत्याचार का वीडियो भी दिखाया
यह स्थान लगभग 700 वर्ष पुराना है जब ईस्ट इंडिया कंपनी की स्थापना हुई थी उस समय विदेशियों का भारत आगमन गंगा के रास्ते पानी के जहाजों द्वारा आना जाना था याकूत गंज से लेकर कम्पित तक लगभग 32 बंदरगाह बने हुए हैं पांचाल घाट पर इनका डिपो था जिससे अफीम कोठी के नाम से जाना जाता है यह मिनी बंदरगाह अलग-अलग देशों के थे नीबलपुर फर्रुखाबाद मैं जो बंदरगाह बने हुए हैं उसे इतिहासकार मिश्र काबंदरगाह बताते हैं धीरे धीरे सरकार की देखरेख न होने के कारण पड़ोस के दबंग किस्म के लोगों ने उस पर कब्जा करना शुरू कर दी है व गंगा की कटरी होने के कारण यह शराब ,जुआ और अराजक तत्वों का आश्रय स्थल बन गया यह लगभग लंबाई में दो ढाई किलोमीटर के भूभाग पर फैला हुआ है यह नीवलपुर से लेकर माधोपुर ग्राम पंचायत तक गंगा के किनारे तक इस प्रकार की पुरानी इमारतें बनी हुई है इसका लगभग 70% भूभाग दबंगों ने कब्जा कर लिया है इसकी शिकायत लगातार कुछ लोगों द्वारा प्रशासन से की जा रही है लेकिन कोई इस पर ध्यान नहीं दे रहा है इसी क्रम में इसमें संस्कृत विद्यालय का संचालन एक संस्था के द्वारा इस बिल्डिंग में किया जा रहा था जो एक 2 साल से बंद है इसके बाद यह विद्यालय शहर के किसी अन्य भाग में विधिवत रूप से चल रहा है कुछ लोग ने बताया यह विद्यालय फर्जी तरीके से कागजों पर ही चल रहा है गंगा के किनारे विश्राम घाट संयास आश्रम पर योगी कपिल नाथ जी महाराज विचरण करते हुए 2002 में बिहार के जिला वैशाली ग्राम खोरमपुर से आकर इसे रमणीक जगह पर रहने लगे उनकी उम्र लगभग 53 वर्ष है पांच भाई तीन बहने उनके हैं यह सबसे छोटे हैं इन्हें बालपन से ही बैराग उत्पन्न हो गया था इनकी माता का देहांत 2007 में हुआ तो यह है अपनी जन्मभूमि बिहार राज्य में गए थे उसके बाद यह फर्रुखाबाद में ही रह रहे हैं इनका गुरु स्थान उत्तर प्रदेश के जालौन जिले में ग्राम वर्धमान में है उनके गुरु जोगी कमलनाथ जो हरियाणा राज्य के अम्बाला के है। वह अभी तक जीवित है बाबा कपिल नाथ ने अपनी मेहनत मजदूरी करके मोटे महादेव का मंदिर ग्राम पंचायत
नीवलपुर टटिया के लोगों के सहयोग से निर्माण करवाया ग्रामीणों ने बताया कि बाबा ने रिक्शा चलाकर भी इस आश्रम में पैसा लगाया यहाँ के दबंग कुशवाहा व यादव लोगों ने संयास आश्रम के मुख्य गेट पर ही अवैध कब्जा कर लिया व राम सिंह कुशवाह ने तो बाबा के आश्रम का रास्ता ही बंद कर दिया 14/06/ 2020 को दिल्ली से कुछ मीडिया कर्मी मिनी बंदरगाह फर्रुखाबाद देखने के लिए आए ऐसी ऐतिहासिक जगह को देखकर उन्होंने कुछ वीडियो बनाएं बाबा कमलनाथ ने वीडियो बनवाने में उन मीडिय कर्मियों का सहयोग किया इस बात से नाराज होकर दबंग लोगों ने 14 /6/ 2020 की शाम को बाबा पर अज्ञात लोगों द्वारा हमला करवा दिया जिससे बाबा को गंभीर चोटें आई बाबा ने पुलिस में शिकायत ना करके ग्राम प्रधान से शिकायत की तो उन्होंने इसका सुलहनामा करवा दिया और कहा आगे ऐसी घटना नहीं होगी उसके बाद बाबा ने 14 /06/ 2021 को गोरखपुर की जाने की तैयारी कर दी और अपने गुरु भाई के सहयोग से माननीय योगी आदित्यनाथ से मुलाकात करने के लिए जनता दरबार में पहुंचे और योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश से मुलाकात कर अपनी बात कही और लिखित प्रार्थना पत्र दिया और वीडियो भी दिखाया जिस पर मुख्यमंत्री ने कहा की बाबा लोगों का दूसरे को अहित करने का अधिकार नहीं है पहले आप गांव के प्रधान से बात करें अगर वह समस्या हल नहीं कर पाते हैं तो हम आगे अग्रिम कार्यवाही करवाएंगे
त्रेता युग में भगवान श्रीराम ने संतों की सुरक्षा के लिए वन में गए वहां पर राक्षस संतों पर अत्याचार कर रहे थे भगवान श्रीराम ने संतों को उनके अत्याचार थे बचाया व उनका सर्वनाश किया माननीय योगी जी उत्तर प्रदेश सरकार श्री राम भक्त हैं मैं उन से अनुरोध करता हूं उसी प्रकार बाबा कपिल नाथ को इन मानव रूपी राक्षसों से रक्षा करके उन्हें सुरक्षित करें । मैने कल ज्ञानदीप के साथ वर्तमान ग्राम प्रधान पूजा गौतम के पिता जी से मुलाकात की तो उन्होंने बताया कुछ दिनों का समय दो मैं इस पर लेखपाल से मिलकर बाबा जी की समस्या का समाधान कराने का प्रयास करेंगे कुछ लोगों ने नाम न छापने की शर्त पर हमें बताया कि राम सिंह का सहयोग पूर्व प्रधान कर रहे हैं जो उनके रिश्तेदार हैं और कुछ दबंग किस्म के यादव भी उनका सहयोग कर रहे हैं इसलिए उनके दिमाग चढ़े हुए हैं मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद भी अभी तक कोई कार्यवाही नही हुई ।।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *