उत्तर प्रदेश | फ़र्रूख़ाबाद

कृषि कानूनों के खिलाफ किसान यूनियन ने पुतला फूंक किया विरोध प्रदर्शन

Farrukhabad: कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे आंदोलन को छह माह पूरे होने पर भारतीय किसान यूनियन व किसान घरों और वाहनों पर काले झंडे लगाकर विरोध जताया गया| नबावगंज में तो पुलिस पुतला फूंकने के चंद मिनट पहले पंहुची और कड़ी मसक्कत के बाद किसान नेताओं से पुतला कब्जे में ले लिया|
भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष अरविन्द शाक्य व लक्ष्मी शंकर जोशी के नेतृत्व में किसान नेता मुख्य चौराहा नवाबगंज पंहुचे और सरकार विरोधी जमकर नारेबाजी की| वह वाकायदा पुतला बनाकर साथ लेकर आये थे| लेकिन पुलिस नें उसे कब्जे में ले लिया| दरअसल पुलिस नें भाकियू के कई पदाधिकारियों को उनके घर पर ही नजर बंद किया| लेकिन उसके बाद भी बड़ी संख्या में किसान नेता सड़कों पर केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते नजर आये| पूरे दिन पुलिस भाकियू नेताओं की खबर लेती रही| लेकिन उसके बाद भी संगठन का दावा है कि कई जगह पुतले फूंक दिये गये| लेकिन नवाबगंज और सलेमपुर आदि जगह पुलिस नें पुतले कब्जे में ले लिये|
भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष अरविन्द शाक्य नें बताया कि नवाबगंज क्षेत्र में ही लगभग 20-25 गांवों में पुतला दहन का कार्यक्रम हो था| कई जगह पुलिस नें पुतले कब्जे में ले लिए और कई जगह कार्यकर्ताओं नें पुतले जलाकर प्रदर्शन करनें में कामयाबी हासिल की| उन्होंने सरकार पर आरोप लगाया कि यह सरकार एक कम्पनी की सरकार है| किसान 6 महीनें से दिल्ली में बैठा है| लेकिन केंद्र सरकार उस तरफ ध्यान नही दे रही| लेकिन किसान अब गाँव-गाँव जाग गया है|
शहर में भी किसान नेताओं के घर तैंनात रही पुलिस
नगर संवाददाता: शहर में भी किसान यूनियन यूनियन लोक शक्ति के नगर अध्यक्ष रवि शर्मा, जिला उपाध्यक्ष पियूष गुप्ता व भारतीय किसान यूनियन के मीडिया प्रभारी मुकेश शर्मा के घर पुलिस उन्हें नजर बंद किये रही|

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *