Asam | Asam railly | Narendra modi | New Dilhi | असम | दिल्ली | फ़र्रूख़ाबाद | ब्रेकिंग न्यूज़

Narendra Modi:मोदी ने विरोधियों पर लगाया चाय को बदनाम करने का आरोप ,किसानों का दर्द नहीं दिखा, विदेशों से चाय को किया जा रहा बदनाम -मोदी

NEW DILHI: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज रविवार 7 फरवरी को असम और बंगाल के दौरे पर हैं. असम में पीएम मोदी ने एक जनसभा को संबोधित किया और कहा कि देश की चाय को बदनाम करने के लिए विदेशों से साजिश रची जा रही है. उन्होंने असम माला प्रोजेक्ट की शुरुआत करने की भी घोषणा की और कहा कि इससे युवाओं को रोजगार मिलेगा.

मोदी जी ने कहा कि आज का दिन मेरे लिए बहुत खास है. आज मुझे सोनितपुर डेक्याजुली की इस पवित्र धरती को प्रणाम करने का अवसर मिला है. ये वही धरती है जहां रुद्रपद मंदिर के पास असम का सदियों पुराना इतिहास की पहिचान हमारे सामने आया थी . मोदी ने कहा ये वही धरती है जहां असम के लोगों ने आक्रमणकारियों को हराया था. अपनी एकता, अपनी शक्ति, अपने शौर्य का परिचय दिया था. 1942 में इसी धरती पर असम के लोगों ने आजादी और सम्मान के लिए अपना बलिदान दिया था जिसे देश कभी नहीं भूलेगा। .

बोडो समझौते का ज़िक्र किया मोदी ने

उन्होंने कहा कि ऐतिहासिक बोडो समझौते के बाद हाल ही में बोडोलैंड टेरिटोरियल काउंसिल के चुनावों ने यहां विकास का नया अध्याय लिख दिया है. आज एक ओर विश्वनाथ और चरईदेव में दो मेडिकल कॉलेजों का उपहार असम को मिल रहा है. तो वहीं असममाला के जरिए आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर की नींव भी पड़ी है. उन्होंने कहा,

“एकजुट प्रयासों से, एकजुट संकल्पों से कैसे परिणाम आते हैं, असम इसका बड़ा उदाहरण है. आपको 5 साल पहले का वो समय याद होगा जब दूरदराज के इलाकों में अच्छे हॉस्पिटल केवल सपना होते थे. अच्छे इलाज का मतलब होता था घंटों की यात्रा और इंतजार. लोगों को चिंता रहती थी कि कोई मेडिकल इमरजेंसी ना आ जाए. आप इस फर्क को देख सकते हैं, महसूस कर सकते हैं कि 2016 तक असम में केवल 6 मेडिकल कॉलेज होते थे लेकिन अब 5 सालों में 6 मेडिकल कॉलेज और मिले हैं.”

स्थानीय भाषा में होगी मेडिकल की पढ़ाई करने का ऐलान किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 2016 तक असम में कुल MBBS की सीट करीब सवा सात सौ ही थी लेकिन ये नए मेडिकल कॉलेज जैसे ही शुरू होंगे, असम को हर साल 1600 नए डॉक्टर मिलने लगेंगे. मेरे देश के गांव में, गरीब के घर में टेलैंट की कोई कमी नहीं होती है, उनको अवसर नहीं मिला होता है. मेरा एक सपना है, हर राज्य में कम से एक मेडिकल कॉलेज, एक टेक्नीकल कॉलेज, मातृभाषा में पढाना शुरू करे. आजादी के 75 साल होने को आए. चुनाव के बाद जब नई सरकार बनेगी असम में, मैं वादा करता हूं एक मेडिकल कॉलेज और एक टेक्नीकल कॉलेज हम स्थानीय भाषा में शुरू करेंगे. कोई रोक नहीं पाएगा इसको. इलाज में सुविधा होगी और लोगों को इलाज के लिए बहुत दूर नहीं जाना होगा. गोहाटी में बन रहे एम्स का काम अगले डेढ़ दो साल में शुरू हो जाएगा ऐसा मोदी जी ने कहा
पीएम मोदी विरोधियों पर भी हमला बोला उनोने ने कहा कि मैं देश के खिलाफ चल रहे षडयंत्रों की भी बात करना चाहता हूं. देश को बदनाम करने के लिए साजिश रचने वाले चाय को भी नहीं छोड़ रहे हैं. आपने खबरों में सुना होगा कि साजिश करने वाले कह रहे हैं कि भारत की चाय की छवि को बदनाम करना है. दस्तावेज सामने आए हैं जिनसे खुलासा होता है कि विदेश में बैठी ताकतें चाय के साथ भारत की जो पहचान जुड़ी है उस पर हमला करने की फिराक में हैं. हर किसी को जवाब देना पड़ेगा जिन्होंने चाय को बदनाम करने का बीड़ा उठाया है. ये जितने मर्जी षडयंत्र कर लें, देश इनके मन्सूबों को कामयाब नहीं होने देगा.
उन्होंने कहा कि भारत माला प्रोजेक्ट की तर्ज पर असम माला प्रोजेक्ट की शुरूआत की गई है. कल्पना करिए कि आने वाले दिनों में असम में कितना काम होने वाला है और असम के युवाओं को कितना काम मिलने वाला है. ये नया भारत आत्मनिर्भर भारत होगा.

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *